SMS in Hindi

हिंदी शायरी SMS | Hindi Shayari SMS

वो हमारा इमतिहान क्या लेगी

मिलेगी नजरों से नजर तो नजर झुका लेगी

उसे मेरी कब्र पर दिया जलाने को मत कहना

वो नादान है दोस्तो अपना हाथ जला लेगी।

 

 

Wo hamara imtihan kya legi,
milayegi nazron se
nazar to nazar jhuka legi.
Use meri kabar pr diya jalane ko mat kehna,
wo naadan
hai dosto apna HAATH jala legi.

 

देकर हाथ दोस्ती का वापिस लिया नहीं जाता

इस नाजुक दोस्ती को जख्म दिया नहीं जाता

सचमुच यह दुनिया बड़ी जालिम है

SMS सस्ता है फिर भी आपसे किया नहीं जाता।

 

Dekar hath dosti ka Vaapas liya nahi jata,
is naazuk dosti ko zakhm diya nahi jata.
Sach much ye duniya badi zalim
hai,
SMS sasta
hai fir b Aapse kiya nahi jata.

 

हमारी आपकी दोस्ती बिल्कुल फिक्स है

लव इमोशन सैडनेस सबकुछ मिक्स है

हम तो आपको न भूलेंगे कभी

आप भूल जायें बस थोड़ा रिस्क है।

 

Hamari aapki dosti bilkul FIX hai,
Love emotion sadness sab kuch MIX
hai,
Hum to apko na bhulenge kabhi,
Aap bhul n jaye bus thoda RISsK
hai.

 

हम पे भी वो वक्त आया था

किसी को आंखों में बसाया था

उसी ने लूट लिया मेरा जहां

जिसे इस दिल की धड़कन बनाया था।

 

Hum pe bhi wo waqt aya tha,
Kisi ko aankhon me basaya tha.
Usi ne lut liya mera jahaan,
Jise is dil ki dhadkan banaya tha.

 

हर बात समझने के लिये नहीं होती

जिंदगी हमेशा पाने के लिये नहीं होती

याद तो अक्सर आती है हमें आपकी

पर हर याद जताने के लिये नहीं होती।

 

Har baat samjhane k liye nahi hoti,
Zindagi hamesha paane
ke liye nhi hoti.
Yaad to aksar aati
hai hume aapki,
Par har yaad jatane
ke liye nhi hoti.

 

ढूंढो तुम जितना पर हम जैसा पाओगे नहीं

बिछुड़ने के बाद भी भुला  पाओगे नहीं

माना कि हम में कुछ कमी सही

पर खुदा ने हम जैसा किसी को बनाया भी नहीं।

 

Dhundo tum jitna,par hum jaisa paoge nahin.
Bichadne k baad bhi bhula paoge nahi.
Maana ki hum mein kuch kami sahi,
par KHUDA ne hum jaisa kisiko banaya bhi nhi.

 

सपना कभी साकार नहीं होता

महोबत का कोई आकार नहीं होता

सब कुछ हो जाता है

मगर जिंदगी में दोबारा

किसी से सच्चा प्यार नहीं होता।

 

Sapna kabi sakar nahi hota
mohabat ka koi aakar nahi hota,
sab kuch ho jata
hai,
magar Zindagi me dobara
kisi se sacha pyar nahi hota.

 

वो मेरे नहीं ये बताना अजीब लगता है

अब उससे आंख मिलाना अजीब लगता है
चाहते थे जिसका हाथ थामना

अब उसको हमसे हाथ मिलाना भी अजीब लगता है।

 

Wo mera nhi ye batana ajib lagta hai,
Ab us se ankhe milana ajib lagta
hai.
Chahte the jiska hath thamna,
Ab unko humse hath milana bhi ajib lgta
hai.

 

आपसे खफा हो कर हम जायेंगे कहां

आपसा साथी हम पायेंगे कहां

दिल को तो कैसे भी समझा लेंगे हम

लेकिन आंखों के आंसू छुपायेंगे कहां?

Aap se khafa hokar hum jayenge kahan,
Aap sa sathi hum payenge kahan.
Dil ko to kaise bhi samjha lenge hum,
Lekin ANKHON
KE AANSU chupayege kahan.

Post a Comment